How Google Search Engine Works in Hindi ?

2
37
views

Google सर्च कैसे काम करता है ⇒ हैल्लो दोस्तों आज इस पोस्ट में हम बात करने वाले कि आख़िरकार Google Kaise Kam Karta Hai. और हम जिस भी सवाल का जवाब जानना चाहते है तो हम सबसे पहले गूगल पर जाकर टाइप करते है और उसका उत्तर हमें मिल जाता है। जैसे कि कोई गाना, वीडियो, न्यूज़ आदि कि जानकारी लेने लिए हम ज्यादातर गूगल का ही इस्तेमाल करते है। तो आज इस लेख हम यह ही जानेंगे कि How Google Search Engine Works in Hindi ? 

क्यूकि गूगल तो हम सब लोग चलाते है और गूगल में ही हम अलग-अलग वेबसाइट सर्च करते है। लेकिन आपने कभी सोचा है। कि गूगल यानि कि खुद एक वेबसाइट बाकि वेबसाइटों का डेटा कैसे पता लगा लेता है। आसान भाषा में बोलें तो तो जो गूगल है वो काम कैसे करता है, तो चलिए जानते है। 

Google Kya Hai ?

Google क्या है ? ⇒ दोस्तों जो गूगल है वो एक वेबसाइट है और कुछ हमें इंटरनेट पर सर्च करना है तो हम इस गूगल के अंदर ही करेंगे। गूगल दुनिया कि सारी वेबसाइट को क्रॉल करता है। और जब आप कुछ भी गूगल पर सर्च करते है तो वो गूगल आपको दिखाता है। आसान भाषा में कहें तो गूगल एक Search Engine है। 

How Google Search Engine Works in Hindi ?

गूगल सर्च कैसे काम करता है ⇒ इंटरनेट पर जितनी वेबसाइट है सारी वेबसाइट गूगल के पास नहीं होती है। अगर मैं आज एक नई वेबसाइट बनाता हूँ तो गूगल के अंदर में देखूंगा तो 1 से 2 से 5 दिन लग जाएंगे। उस वेबसाइट को गूगल के अंदर आने के लिए, गूगल अपने बोट को रन करता है। एल्गोरिदम रन करता है और कितनी वेबसाइट है दुनिया में गूगल सबको एक एक बार विजिट कर कर के कर कर के सारा डेटा अपने डाटा बेस में सेव करता रहता है।

इंटरनेट पर तो पता नहीं कितनी वेबसाइट होगी लेकिन गूगल ने जितनी वेबसाइट को कॉल करके रखा हुआ है। देख देख कर अपना डाटा बेस में स्टोर करके रखा है। जितनी भी गूगल ने अपने डेटाबेस में वेबसाइटों को इंडेक्स किया है। गूगल बस वही वेबसाइट हमको गूगल पर कुछ भी कीवर्ड सर्च करने पर दिखता है उस कीवर्ड अनुसार।

वेबसाइट गूगल क्रॉल और इंडेक्स कैसे करता है ?

How Google Search Engine Works in Hindi

 

गूगल वेबसाइट को क्रॉल और इंडेक्स करने की प्रक्रिया की शुरुआत से पहले क्रॉल करी हुई वेबसाइट और उन वेबसाइटों के मालिकों की तरफ से दिए गए साइटमैप को देखकर करता है। इन वेबसाइटों पर जाने के बाद, गूगल के क्रॉलर इन वेबसाइट में मौजूद लिंक के ज़रिए और पेज के ज़रिए सबको एक एक बार विजिट कर कर के कर कर के अपना डाटा बेस में सेव करता रहता है। और गूगल का यह प्रोग्राम नई साइट, और पहले से ही मौजूदा साइट में हुए बदलाव और बेकार पड़े लिंक पर खास ध्यान देता है। और सबको चेक करता है। और फिर यह  प्रोग्राम तय करता हैं कि किन वेबसाइट को क्रॉल करना है, और हर साइट से कितने पेज लाने हैं। 

अगर आप एक वेबसाइट चलाते है तो आपने गूगल वेबमास्टर टूल के बारे में जरूर सुना होगा। गूगल वेबमास्टर टूल के द्वारा वेबसाइट के मालिकों को अपनी वेबसाइट समिट करने की भी सुविधा देता है। जहाँ से भी गूगल उस वेबसाइट को क्रॉल करता है। और उस वेबसाइट में कितने लिंक है सबको क्रॉल करता है और अपने सर्वर सेव करता है। इसी के द्वारा गूगल अपने यूजर को बेहतर रिजल्ट देता है। 


दोस्तों पोस्ट कैसी लगी कमेंट कर जरूर बताना और इसी तरह की जानकारी के लिए Tech Duniya Hindi लॉग-इन करते रहें। धन्यवाद !

2
Leave a Reply

avatar
2 Comment threads
0 Thread replies
0 Followers
 
Most reacted comment
Hottest comment thread
2 Comment authors
ROHIT KUMARM Prajapati Recent comment authors
  Subscribe  
newest oldest most voted
Notify of
M Prajapati
Guest

Very nice article pukhrajji. Great work

ROHIT KUMAR
Guest

Appki post padhane ke baad ye aasani se pata chal gaya google ka search engine kaise kaam karte hai